ICC Cricket World Cup 2019: क्‍या दुनिया को क्रिकेट का पाठ पढ़ाने वाली टीम पहली बार बनेगी चैंपियन?



इंग्‍लैंड की पहचान दुनिया को क्रिकेट का ‘ककहरा’ सिखाने वाली टीम की है और इस बार वह अपनी ही मेजबानी में विश्‍व कप खेलेगी. संभव है कि इस बार इंग्लैंड सीमित ओवरों की इस प्रतिष्ठित ट्रॉफी के अपने इंतजार को खत्म करने में सफल रहे. जबकि दुनियाभर के क्रिकेट जानकार और विराधी कप्‍तान भी उसे खिताब का तगड़ा दावेदार बताने में कतई संकोच नहीं कर रहे हैं. सच कहा जाए तो जब से ऑस्ट्रेलिया के ट्रेवर बेलिस ने इस टीम की बतौर कोच जिम्‍मेदारी संभाली है तब से लिमिटेड ओवर क्रिकेट में टीम का भाग्य ही बदल गया और उसने दो बार वनडे क्रिकेट में सर्वोच्च स्कोर का रिकॉर्ड कायम किया है.टीम ने पहले 2016 में ट्रेंटब्रिज में पाकिस्तान के खिलाफ तीन विकेट पर 444 रन बनाए और फिर पिछले साल ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ नॉटिंघम में छह विकेट पर 481 रन का स्कोर खड़ा कर डाला, जो कि वनडे क्रिकेट का सबसे बड़ा स्‍कोर है.


ऑयन मॉर्गन की अगुवाई में खेलेगी इंग्‍लैंड: ऑयन मॉर्गन की कप्‍तानी में इस टीम ने दुनियाभर में अपना दम दिखाया और यही वजह है कि वह इस वक्‍त आईसीसी वनडे रैंकिंग में नंबर 1 है. वह इस बार अपना चौथा और संभवत: आखिरी विश्‍व कप खेलेंगे और जिस प्रकार उसका पिछली 11 द्धिपक्षीय वनडे सीरीज (10 जीत और एक ड्रॉ) में प्रदर्शन रहा है वह विरोधी टीमों के लिए खौफ बना हुआ है. इंग्‍लैंड ने पाकिस्‍तान के खिलाफ सीरीज के चार मैचों में बल्‍लेबाजी करते हुए 1424 रन बनाए हैं, जो एक सीरीज (अधिकतम चार मैच) में किसी भी टीम द्वारा बने सबसे अधिक रन हैं. इसके साथ इंग्‍लैंड ने टीम इंडिया का 10 साल पुराना वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया. टीम इंडिया ने साल 2009 में श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में कुल 1275 रन बनाए थे.वहीं, उसका चार मैचों में स्‍कोर 373/3, 359/4, 341/7 और 351/9 रन था और वह ऐसा करने वाली पहली टीम है.


इस टीम की असली ताकत बल्‍लेबाजी है, जिसमें कप्‍तान मॉर्गन के अलावा जो रूट, जेसन रॉय, जोस बटलर, जॉनी बेयरस्‍टो जैसे आक्रमक खिलाड़ी शामिल हैं. जबकि बेन स्‍टोक्‍स, मोइन अली, क्रिस वोक्‍स और टॉम कर्रन की ऑलराउंडर चौकड़ी किसी भी मैच का पासा पलटने का दम रखती है. अगर गेंदबाजी की बात करें तो मार्क वुड और लियाम प्‍लांकेट के साथ मिलकर युवा सनसनी जोफ्रा आर्चर विरोधी टीम की धज्जियां उड़ा सकते हैं. 23 साल के आर्चर विश्‍व कप के मैदान में उतरने से पहले ही अपनी तेज रफ्तार की वजह से चर्चा में हैं. जबकि फिरकी की जिम्‍मेदारी आदिल राशिद और अली के कंधों पर रहेगी. राशिद ने 2015 विश्‍व कप के बाद से सबसे अधिक 129 विकेट लिए हैं.


ये हैं स्‍टार खिलाड़ी: वैसे तो इंग्‍लैंड टीम में कई स्‍टार खिलाड़ी शामिल हैं, लेकिन इस विश्‍व कप में ऑयन मॉर्गन, जेसन रॉय, जोस बटलर, जॉनी बेयरस्‍टो और जोफ्रा आर्चर अहम साबित हो सकते हैं.


इंग्‍लैंड का विश्‍व कप इतिहास: इंग्‍लैंड ने अभी तक हुए सभी 11 विश्‍व कप में हिस्‍सा लिया है. दिलचस्‍प बात ये है कि पांचवीं बार विश्‍व कप उसकी मेजबानी में खेला जा रहा है. पहले तीनों विश्‍व कप 60-60 ओवर के खेले गए थे, जिसमें इस टीम ने खासा दमदार प्रदर्शन किया था. 1975 में सेमीफाइनल में जगह बनाने वाली इस टीम ने अगले टूर्नामेंट (1979) में फाइनल में जगह बनाई, लेकिन विंडीज से हारकर खिताब गंवा बैठी. 1983 में सेमीफाइनल में सफर खत्‍म हुआ तो 1987 और 1992 में वह खिताबी मुकाबले का दबाव नहीं झेल सकी और चैंपियन बनने का सपना टूट गया. इसके बाद से वह दो बार क्‍वार्टरफाइनल (1996 और 2011) और तीन बार ग्रुप स्‍टेज (1999, 2003 और 2015) से आगे नहीं बढ़ सकी है. वैसे इंग्‍लैंड ने विश्‍व कप में अब तक 72 मैच खेलते हुए 41 जीते हैं तो 29 में हार मिली है. जबकि एक मैच टाई तो एक का रिजल्‍ट नहीं निकला है. वहीं, 58.45 फीसदी सफलता उसकी ताकत बताता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *