Pure Desi

डेढ़ घंटे बाघ की आंखों में आंखे डालकर बचाई अपनी जान, बाघ के इरादों को किया नाकाम

ये हैरतअंगेज मामला मध्य प्रदेश के सतपुड़ा टाईगर रिजर्व का है। सतपुड़ा टाईगर रिजर्व में कार्यरत एक महिला वन रक्षक अपने कार्य समय पर जंगल में निकली हुई थी, लेकिन उन्हें क्या पता था कि आज के दिन उसका सामना साक्षात मौत से हो जाएगा।


हुआ यूँ कि रोज की तरह महिला वन रक्षक अपने दो साथी चौकीदारों के साथ जंगल में में निकली हुई थी कि तभी उन्होंने किसी जानवर के पैरों के पंजे के निशान देखे, और जब वो उन निशानों के पीछा करते हुए आगे गई तो उन्होंने देखा कि एक बाघ मात्र 8 या 10 मीटर की दूरी पर खडा़ हुआ था।
जब बाघ ने उस महिला वन रक्षक को देखा तो उसने जोर दहाड़ लगाई, लेकिन वो महिला अपनी हिम्मत को बनाए रखकर उस बाघ के सामने बिना हिले डुले खडी़ रही। वो महिला डेढ़ घंटे तक बिना हिले डुले बाघ की आंखों में आंखें डालकर खडी़ रही, वो ऐसा इसलिए कर पाई क्यों कि उनको इन सभी खतरों से निपटने के लिए पहले ट्रेनिंग दी गई थी।


महिला वन रक्षक जिसका नाम सुधा धुर्वे ने अपने साथी चौकीदारों को इशारे में बोला कि अगर उन्होंने भागने की कोशिश की तो बाघ उनपर हमला कर देगा। वे सभी डेढ घंटे तक जस के तस खड़े रहे और फिर बाघ वहाँ से चला गया।
सतपुड़ा टाईगर रिजर्व के वन अधिकारियों ने इस घटना की पुष्टि की। उनके मुताबिक झिरीया बीट में गणना के दौरान सुधा धुर्वे अपने साथी चौकीदारों के साथ वन्य जीवों की गणना करने के लिए निकली थी, तभी तकरीबन सुबह 6 बजे उनके साथ ये घटना घटित हुई।
सतपुड़ा टाईगर रिजर्व मध्य प्रदेश के होशंगाबाद जिले में स्थित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *