Celebrity, Pure Desi

मुकेश अंबानी के घर का कचड़ा भी है बेशकीमती, कुछ इस तरह होता है इस्तेमाल, हैरान रह जाएंगे आप


antilla building
मुकेश अंबानी की आलीशान जीवनशैली के बारे में कौन नहीं जानता, आखिरकार देश के सबसे बड़े धनवान जो हैं। मुंबई स्थित परेड रोड पर बना उनका बंगला जिसका नाम ” एंटीलिया ” जिसको देखकर अच्छे अच्छों की नजर टिक जाए, दुनिया की सभी सुख सुविधाओं से सुसज्जित है। साउथ मुंबई का परेड रोड मुंबई का सबसे पॉश इलाका है। अंबानी परिवार अपने बंगले में इसी इलाके में रहता है।
मुकेश अंबानी का बंगला ” एंटीलिया ” 27 मंजिल का है। और लाजिमी है कि इतनी बड़ी इमारत में कूड़ा भी बेशुमार होता होगा। जब हमारे छोटे से घर में ढेरों कूड़ा निकल आता है तो अंबानी के इतने बड़े घर में कितना कूड़ा निकलता होगा, ये तो आप भी सोच सकते हो। और आप ये भी सोच रहे होंगे कि इतने कूड़े का आखिरकार होता क्या होगा। तो आज आपको बताते हैं कुछ ऐसे ही रोचक तथ्य।


” एंटीलिया” दुनिया के सबसे महंगे घरों में से एक है, इसकी देखभाल के लिए 600 से भी ज्यादा नौकर हर समय मौजूद रहते हैं। बंगले में 170 कारों से भी ज्यादा की पार्किंग की सुविधा है। इसकी छत पर तीन हैलीपैड भी बने हुए हैं।


मुकेश अंबानी और उनका परिवार ऊपरी मंजिल पर रहता है। फोर्ब्स की रिपोर्ट के अनुसार मुकेश अंबानी की संपत्ति 86 देशों की जी डी पी से भी ज्यादा है। है ना चौकाने वाली बात।
चलिए आपको बताते हैं कि अंबानी के बंगले का कचरा आखिर किस जगह इस्तेमाल होता है। बंगले का कचरा फेंका नहीं जाता बल्कि उस कचरे से एक खास सिस्टम के द्वारा बिजली बनाई जाती है। बंगले की पूरी बिजली इसी कचड़े से बनाई जाती है।


एंटीलिया में जितना कचड़ा निकलता है उसमें से सबसे पहले सूखा और गीला कचड़ा अलग कर लिया जाता है, फिर उसके बाद स्पेशल तकनीक के जरिए उससे बिजली बनाई जाती है। है ना कमाल की बात, कचड़े के इससे बेहतर उपयोग और कोई नहीं हो सकता, इसे कहते हैं मुकेश अंबानी का बिजनेस माइंड, जो हर चीज से फायदा निकाल ही लेता है। चलो जाते जाते आपको एक और चौकाने वाली बात भी बता देते हैं। अभी कुछ समय पहले मुकेश अंबानी के ड्राइवर की सैलरी के बारे में खूब चर्चा हुई थी, आपको बता दें कि मुकेश अंबानी की ड्राइवर की सैलरी ही दो लाख रुपये है, चौंक गए ना आप। जानकारी अच्छी लगे तो आगे भी शेयर जरूर कर दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *